UFC championship की पूरी जानकारी

Ram Gupta

UFC Championship क्या है।

UFC india मे इतनी तेजी से लोकप्रिय क्यों हो रही है। WWE fights के बाद UFC fights भारत मे बड़ी तेजी से लोकप्रिय हो रहीं हैं। इसका एक कारण यह भी है कि भारत के कई सारे  fighters जैसे Arjan Singh Bhullar , RItu Phogat ,  Gurdarshan Mangat ये सब UFC के fighters है और इन्होंने यूएफसी मे अपना नाम भी कमाया है। यही कारण है कि UFC india मे भी तेजी से लोकप्रिय हो रहीं हैं। यूएफसी मे WWE के ब्रॉक लैसनर और सीएम पंक UFC में फाइट कर चुके हैं  अगर female Wrestlers की बात करे तो wwe की रोंडा राउजी भी UFC की चैंपियन रह चुकी है।
यूएफसी-चैंपियनशिप-की-पूरी-जानकारी
चलिए जानते UFC क्या है। UFC का पूरा नाम अल्टीमेट फाईटिंग चैंपियनशिप (Ultimate Fighting Championship) है। UFC एक अमेरिकन कंपनी हैं। यूएफसी अपनी MMA (Mixed martial arts) के लिए जानी जाती हैं। UFC मे Mixed martial arts का इस्तेमाल होने के कारण यह Fight बहुत दिलचस्प होती है। यूएफसी मे fighters किसी भी दांव पेंच और मूव का इस्तेमाल कर सकते हैं। जो यूएफसी की लोकप्रियता को बढाता है। यह एक रियल फाईटिंग होती है। इसमे आप अपने प्रतिद्वंद्वी को हराने के लिए boxing , Taekwondo, Karate, kickboxing, Capoeira, outputtin आदि
मूव्ज का इस्तेमाल कर सकते हैं । यूएफसी की फाईट WWE की तरह scripted नहीं होती है। 

UFC की शुरुआत कैसे हुई | History of  UFC

सबसे पहले ब्रूस ली ने मिक्स मार्शल आर्ट्स की शुरुआत की थी। ब्रूस ली अपनी फाईटस मे हर तरह के मूव्ज का इस्तेमाल करते थे। आगे चल कर यही मिक्स मार्शल आर्ट्स बना ( Mixed Martial Art's) इसलिए ब्रूस ली को फादर ऑफ मिक्स मार्शल आर्ट कहा जाता हैं। MMA को आस्तित्व मे लाने का श्रेय ब्रूस ली को ही जाता है। 1976 मे अमेरिका के मशहूर professional player Muhammad Ali और जापान के  रेसलर ‘Antonio Inoki के बीच मैच करवाया गया। इस मैच मे 15 राउंड होने के बाद भी रिजल्ट नहीं निकला।


दोनो ही फाईटर्स बहुत ही बखुबी तरीके एक दूसरे का सामना किया। कोई नतीजा ना निकलने के कारण इस मैच को ड्राॅ घोषित कर दिया गया। इस मैच के बाद लोग मिक्स मार्शल आर्ट्स के बारे में बात करने लगे। इससे मिक्स मार्शल आर्ट्स की लोकप्रियता भी बढ़ी। अल्टीमेट फाईटिंग चैंपियनशिप का पहला इवेंट 12 नवम्बर 1993 को आयोजित किया गया। इस इंवेंट का  लक्ष्य Boxing , Kickboxing , Grappling , Wrestling , sumo , Karate इन सभी खेलों के सबसे कुशल एथलीट को ढूंढना था। अल्टीमेट चैंपियन्स को ढूंढना ही इस मुकाबले का लक्ष्य था।

UFC का मालिक कौन है 


UFC की जब शुरुआत हुई तब एक group के द्वारा इस को नियंत्रित किया जाता था। इस ग्रुप का नाम सेमाफोर एंटरटेनमेंट ग्रुप था। वित्तीय समस्याओं के आने के कारण यूएफसी को 2001 मे फ्रैंक और लोरेंजो नाम के दो भाईयों को बेच दिया गया। जिन्होंने UFC को संचालित करने के लिए Zuffa नाम की  कंम्पनी का गठन किया और डाना व्हाइट को यूएफसी का अध्यक्ष बनाया गया। अभी भी UFC के प्रेसीडेंट डैना वाइट हैं, जिन्होंने साल 2001 में इसका कार्यभार संभाला था। UFC अभी तक 650 से ज्यादा इवेंट करवा चुका है। यूएफसी अभी तक 29 देशों के 165 शहरों में 667 UFC Event करवा चुका है। UFC अब तक 8 हजार से ज्यादा मुकाबले आयोजित कर चुका है। यूएफसी ने 2007 मे अपने एक प्रतिद्वंद्वी कंम्पनी प्राइड  फाइटिंग चैंपियनशिप को खरीद लिया था। इस तरह से wwe के बाद UFC सबसे सबसे बड़ी फाईटिंग कंम्पनी हैं।

UFC Fighte के नियम


आपको बता दें कि 1990 के दौरान जब MMA होती थी तब ज्यादा नियम नहीं बनाए गए थे। जिसके चलते फाइटर अपने विरोधी के बाल खींचते, आंखों में मार देते थे , अपने विरोधी पर थूक देते थे। और भी कई ऐसी चीजें करते थे जो लीगल नहीं थी। इन सब घटनाओं को देखते हुए UFC मे कुछ नियम तय किए गए। फाइटरों की सुरक्षा के लिए UFC में कुछ नियम और कायदे बनाए। जो इस प्रकार है।

1. फाइटर सिर्फ ऑक्टागन में  ही लड़ सकते हैं।
2. कोई भी फाइटर दूसरे फाइटर नाखूनों से नोच नही सकता, ना ही आंखों को नुक्सान पहुंचा सकता है। बालों को नही खींच सकते। एक दूसरे के ऊपर थूक नही सकते।
3. हर फाइटर के लिए हाथों पर पट्टी के साथ मुंह में माउथ गार्ड लगाना बेहद जरुरी है।
4. फाइटर को ग्लव्स पहनने होते हैं जिसका वजन 113 ग्राम से लेकर 170 ग्राम तक होना चाहिए।
5. मैन फाइटर को ग्रोइन मतलब पेट के नीचे के हिस्से का प्रोटेक्टर पहना जरुरी होता है।
6. विमेंस को चेस्ट का प्रोटेक्टर पहनना होता है।
7. UFC के चैंपियनशिप मैच के लिए पांच-पांच मिनट के पांच राउंड होते हैं। जिसमें एक मिनट का आराम भी मिलता है।
8. फाइट के लिए 3 जज होते हैं जो फाइटर के प्वाइंट्स को देखते हैं, रेफरी इसमें शामिल नहीं होता है।
9. फाइट के दौरान सभी अंपायर देखते हैं कि फाइटर ने किस तरह MMA की तकनीक को इस्तेमाल किया है और कैसे डिफेंड किया है।
10. हर राउंड के 10 प्वाइंट होते हैं और सही तकनीक को देखते हुए अंपायर अंक देते हैं।
11. UFC में 31 तरह के फाउल होते हैं, जैसे थूकना, बालों को खींचना, सिर पर लात मारना। अगर कोई ये फाउल करता है तो रेफरी उसे डिसक्वालीफाई कर सकता है।
12. MMA की फाइट को कई तरीकों से जीता जा सकता है। जैसे फिजिकल टैप आउट और वर्बल टैप आउट।
13. यूएफसी फाइट को नॉक आउट या फिर सभी राउंड को जीतने के बाद‌ जीता जा सकता है।
14. फाइटर अगर फाइट के दौरान अपने होश गंवा दे तो उस हिसाब से भी रेफरी दूसरे फाइटर को विजेता घोषित कर सकता है।
15.  अंपायरों/ रेफरियों के फैसलों से भी जीत हासिल होती है। जैसे, तीनों जज अपना एक फैसला सुनाए या दो जजों का एक फैसला हो और तीसरा जज कुछ और फैसला दें इसको मेजोरिटी डिसीजन कहते हैं।
16. यूएफसी फ़ाइट को सबमिशन, फोरफिट, टेक्निकल डिसीजन से भी जीता जा सकता है।
13. UFC की चैंपियनशिप को 12 अलग-अलग भार वर्ग में बांटा गया है।
14. यूएफसी मे 8 मैंस के टाइटल हैं जबकि 4 विमेंस डिवीजन में रखे गए हैं।
15. फ्लाइवेट, बेंटामवेट, फेदरवेट, लाइटवेट, वेल्टरवेट, मिडलवेट, लाइटहैवीवेट और हैवीवेट ये 8 टाइटल मैंन के लिए  हैं।
16. विमेंस के लिए स्ट्रॉवेट, फ्लाइवेट, बेंटामवेट और फेदरवेट को रखा गया है।
17. UFC के केज को "ऑक्टागन" कहा जाता है। स्टील केज 30 फुट में फैला होता है। जिसकी लंबाई 6 फुट होती है जबकि जमीन से 4 फुट ऊपर होता है।
उम्मीद करते हैं आपको UFC से जुड़ी सारी जानकारी मिल गई होगी। आप को आप के सारे सवालों का जवाब मिल गया होगा। अगर फिर भी आप कुछ जानना चाहते हैं तो हमें कमेंट कर सकते हैं।