shayari for annual function day| best shayari for school days

Annual Function Shayari

Annual-Function-day-Shayari

1.न जाने सालों बाद कैसा समां होगा,

हम सब दोस्तों में से कौन कहा होगा,

फिर अगर मिलना होगा तो मिलेंगे ख्वाबों मे, 

जैसे सूखे गुलाब मिलते है किताबों मे।


2.पाई मंजिल मेहनत के दम पर किसी बहाने से नहीं,

यह जमाना हमसे है जमाने से हम नहीं।


3.दोस्ती वो नहीं जो जान देती है, 

दोस्ती वो भी नहीं जो मुस्कान देती है, 

अरे सच्ची दोस्ती तो वो है.. 

जो पानी में गिरा हुआ आंसू भी पहचान लेती है|

Function day



4. जो खो गया उसके लिए रोया नहीं करते

जो पा लिया उसे खोया नहीं करते|

उनके ही सितारे चमकते है ए दोस्,

जो मजबूरियों का रोना रोया नहीं करते|


5.एक जैसे दोस्त सारे नही होते, 

कुछ हमारे होकर भी हमारे नहीं होते,

आप से दोस्ती करने के बाद महसूस हुआ,

कौन कहता है ‘तारे ज़मीं पर’ नहीं होते.

style="border: 0px; margin: 0px 0px 24px; outline: 0px; padding: 0px; vertical-align: baseline;">

6.ज़िन्दगी लहर थी आप साहिल हुए,

न जाने कैसे हम आपकी दोस्ती के काबिल हुए,

न भूलेंगे हम उस हसीं पल को, 

जब आप हमारी छोटी सी ज़िन्दगी में शामिल हुए।


7.तक़दीर लिखने वाले एक एहसान करदे,

मेरे दोस्त की तक़दीर मैं एक और मुस्कान लिख दे, 
न मिले कभी दर्द उनको तू चाहे,
तो उसकी किस्मत में मेरी जान लिख दे


8. दुनियां का हर शौक पला नहीं जाता,

कांच के खिलोनो को उछाला नहीं जाता|

style="border: 0px; color: #2b2b2b; font-family: Lato, sans-serif; font-size: 16px; margin: 0px 0px 24px; outline: 0px; padding: 0px; text-align: left; vertical-align: baseline;">महनत करने से हो जाती है मुश्किले आसान,

क्यों की हर कम तक़दीर पर टाला नहीं जाता|


9.दिन हुआ है तो रात भी होगी,

हो मत उदास, कभी बात भी होगी,

इतने प्यार से दोस्ती की है,

जिन्दगी रही तो मुलाकात भी होगी..


10.गुलाब खिलते रहे ज़िंदगी की राह् में,

हँसी चमकती रहे आप कि निगाह में,

खुशी कि लहर मिलें हर कदम पर आपको,

देता हे ये दिल दुआ बार–बार आपको।


11.एक पहचान हज़ारो दोस्त बना देती हैं,

एक मुस्कान हज़ारो गम भुला देती हैं,

ज़िंदगी के सफ़र मे संभाल कर चलना,

एक ग़लती हज़ारो सपने जला कर राख देती है।


12.दोस्त को दोस्त का इशारा याद रहेता हे,

हर दोस्त को अपना दोस्ताना याद रहेता हे,

कुछ पल सच्चे दोस्त के साथ तो गुजारो,

वो अफ़साना मौत तक याद रहेता हे|


13.दोस्ती का शुक्रिया कुछ इस तरह अदा करू,

आप भूल भी जाओ तो मे हर पल याद करू,

खुदा ने बस इतना सिखाया हे मुझे कि,

खुद से पहले आपके लिए दुआ करू..


14.देखी जो नब्ज मेरी, हँस कर बोला वो हकीम,

जा जमा ले महफिल पुराने दोस्तों के साथ,

तेरे हर मर्ज की दवा वही है।


Best School days Shayari


15.शाम-ए-महेफिल! चलो कुछ पुराने दोस्तों के, दरवाज़े 

खटखटाते हैं,

देखते हैं उनके पँख थक चुके है, या अभी भी फड़फड़ाते हैं,

हँसते हैं खिलखिलाकर, या होंठ बंद कर मुस्कुराते हैं,

वो बता देतें हैं सारी आपबीती, या सिर्फ सफलताएं सुनाते हैं,

हमारा चेहरा देख वो, अपनेपन से मुस्कुराते हैं,

या घड़ी की और देखकर, हमें जाने का वक़्त बताते हैं,

चलो कुछ पुराने दोस्तों के, दरवाज़े खटखटाते हैं !


16.किसी रोज़ याद न कर पाऊं तो खुदगर्ज़ न समझ लेना दोस्तों,

दरसल छोटी सी इस उम्र में परेशानिया बहुत हैं,

मैं भूला नहीं हूँ किसी को मेरे बहुत अच्छे दोस्त हैं ज़माने में,

बस थोड़ी ज़िन्दगी उलझ पड़ी है दो वक़्त की रोटी कमाने में|


17.गुनाह करके सजा से डरते है, ज़हर पी के दवा से डरते है।

दुश्मनो के सितम का खौफ नहीं हमे, हम तो दोस्तों के खफा

होने से डरते है।


18.दोस्ती अच्छी हो तो रंग़ लाती है।

दोस्ती गहरी हो तो सबको भाती है,

दोस्ती नादान हो तो टूट जाती है।

पर अगर दोस्ती अपने जैसी हो तो इतिहास बनाती है।


19.हर किसी कै किसमत मै ऐसा लिखा नही होता,

हर मंजिल मै तैरै जैसा दौस्त का पाता नही मिलता।

मैरी तकादीर हौगी कुछ खास.. 

वरना तैरै जैसा यार मुझै कहा मिलता।

Annual Function day


20.देखी जो नब्ज मेरी, हँस कर बोला वो हकीम,

जा जमा ले महफिल पुराने दोस्तों के साथ..

तेरे हर मर्ज की दवा वही है।


21.गुनाह करके सजा से डरते है,

ज़हर पी के दवा से डरते है,

दुश्मनो के सितम का खौफ नहीं हमे,

हम तो दोस्तों के खफा होने से डरते है,


22.छोटे से दिल में गम बहुत है,

जिन्दगी में मिले जख्म बहुत हैं,

मार ही डालती कब की ये दुनियाँ हमें,

कम्बखत दोस्तों की दुआओं में दम बहुत ह।


23.जब को कोई दोस्त बीमार होता है तो रिश्तेदार: कुछ नहीं

होगा तुझे, समय पर दवाई लेते रहना, भगवान सब ठीक 

करेगा दोस्त: मर जा साले तू, मरने से पहले अपना Xbox

मुझे दे दे यार, पता है मेरे दादा जी भी ऐसे ही मरे थे।


24.प्यार की मस्ती किसी दुकान में नहीं बिकती,

अच्छे दोस्तों की दोस्ती हर वक़्त नहीं मिलती,

रखना सदा दोस्तों को दिल में सजाकर,

क्योंकि यारों की यारी कभी गैरों से नहीं मिलती।


25.खुशियो पर मौज की रवानी रहेगी,

जिंदगी में कोई न कोई कहानी रहेगी,

हम यू कार्यक्रम में चार चाँद लगाते रहेंगे,

गर आपकी तालियों की मेहरबानी रहेगी…


26.अच्छे दोस्त सफ़ेद रंग जैसे होते हैं,

सफ़ेद में कोई भी रंग मिलाओ तो नया रंग बन सकता है।

लेकिन दुनिया के सभी रंग मिलाकर भी सफ़ेद रंग नहीं बना सकते।


27.गुरु में है मधुरता

गुरु में है निश्चलता

गुरु का आशीर्वाद हो

पक्की हो हर सफलता।


28.रिश्तों से बड़ी चाहत और क्या होगी,

दोस्ती से बड़ी इबादत और क्या होगी,

जिसे दोस्त मिल सके कोई आप जैसा,

उसे ज़िंदगी से कोई और शिकायत क्या होगी।


29.आपकी नेकियों का कहां तक बखान करें

वह शब्द नहीं जो आप की गरिमा बयान करें

आप तो अपने आप में शहंशाह हैं हुजूर

वह शै हैं आप जिन्हें सब सलाम करें।


30.खुशियो पर मौज की रवानी रहेगी,

जिंदगी में कोई न कोई कहानी रहेगी,

हम यू कार्यक्रम में चार चाँद लगाते रहेंगे,

गर आपकी तालियों की मेहरबानी रहेगी…


31.तुम आ गए हो तो कुछ चाँदनी सी बातें हों,

ज़मीं पे चाँद कहाँ रोज़ रोज़ उतरता है,

तुम जो आए हो तो शक्ल-ए-दर-ओ-दीवार है,

और कितनी रंगीन मिरी शाम हुई जाती है।


32.सौ चाँद भी चमकेंगे तो क्या बात बनेगी,

तुम आए तो इस रात की औक़ात बनेगी,

शुक्रिया तेरा तिरे आने से रौनक़ तो बढ़ी,

वर्ना ये महफ़िल-ए-जज़्बात अधूरी रहती।


33.मीठी बात और चेहरे पर मुस्कान,

ऐसे लोग ही है हमारी महफ़िल के शान।

दिल को सुकून मिलता हैं मुस्कुराने से,

महफ़िल में रौनक आती है दोस्तों (आप) के आने से,


34.आये वो हमारी महफ़िल में कुछ इस तरह, कि हर तरफ़ चाँद-

तारे झिलमिलाने लगे, देखकर दिल उनको झूमने लगे।


35.तुम आ गए हो तो कुछ चाँदनी सी बातें हों ज़मीं पे चाँद कहाँ 

रोज़ रोज़ उतरता है तुम जो आए हो तो शक्ल-ए-दर-ओ-दीवार

है और कितनी रंगीन मिरी शाम हुई जाती है।

मंच संचालन की शुरुआत कैसे करें।

कुछ पंक्तियों के जरिये,
इक छोटा सा परिचय.

जीवन बीता इस नगरी में,
शिक्षा का दीपक जलाएं,
स्कूल के प्रांगन से

उच्च शिक्षा का गौरव दिलाया,
  कॉलेज की गलियों में

अभी भी भर रहा था ज्ञान का घड़ा
आगे की पढाई के लिए इन्हे जाना पड़ा.
आज इस जगह को अलविदा हैं कहने वाले
सभी हैं साथ आज इनके चाहने वाले
ये अपने ही हैं इनके जीवन की पूंजी
सरल सादे आचरण की इकलोती कुंजी.




Post a Comment

1. कमेंट बॉक्स में किसी भी प्रकार की लिंक ना पेस्ट करें।
2. कमेंट में गलत शब्दों का प्रयोग ना करें।

Previous Post Next Post