दो लाइनों की दर्द भरी शायरी | Two Line Sad Shayari

Dard Bhari Shayari | दर्द भरी शायरी

Sad-Shayari-Collection
 वो इतना रोई मेरी मौत पर मुझे जगाने के लिए..मैं मरता ही क्यूँ अगर वो थोडा रो देती मुझे पाने के लिए..!!

 सुना है तुम्हारी एक निगाह से कत्ल होते हैं लोग..एक नज़र हमको भी देख लो.. ज़िन्दगी अच्छी नहीं लगती..!!

 खुद भी रोता है, मुझे भी रुला के जाता है..ये बारिश का मौसम, उसकी याद दिला के जाता हैं।

 बड रहा है दर्द गम उस को भूला देने के बाद याद उसकी ओर आई खत जला देने के बाद!

Two Line Sad Shayari Collection

 निगाहों से भी चोट लगती है.. जनाब..जब कोई देख कर भी अन्देखा कर देता है..!!

 वो दुआएं काश मैने दीवारों से मांगी होती, ऐ खुदा.. सुना है कि उनके तो कान होते है!!

 आईना आज फिर रिशवत लेता पकडा गया, दिल में दर्द था ओर चेहरा हंसता हुआ पकडा गया

दर्द भरी शायरियां हिन्दी में

जितने राज़दार कम बनाओगे
उतने ही धोखे कम खाओगे

क्योंकि हमारी कमजोरियाँ ही
दुश्मनों को ताकतवर बनाती हैं।

और क्या चाहिए ज़िन्दगी के लिए आदमी दुःख सहे आदमी के लिए आदमी में आदमी की तरह आदमियत न हो तो,आदमी ही ज़हर है आदमी के लिए।
और शायरी  पढ़ें:-


क्या प्यार में सोचा था क्या प्यार में पाया,
तुझे पाने की चाहत में खुद को मिटाया।

एक उमर बीत चली है तुझे चाहते हुए,
तू आज भी बेखबर है कल की तरह।

Two Line Sad Shayari Collection

अना कहती है इल्तेजा क्या करनी,
वो मोहब्बत ही क्या जो मिन्नतों से मिले।

मुकम्मल ना सही अधूरा ही रहने दो,
ये इश्क़ है कोई मक़सद तो नहीं है।

वजह नफरतों की तलाशी जाती है,
मोहब्बत तो बिन वजह ही हो जाती है।

गुफ्तगू बंद न हो बात से बात चले,
नजरों में रहो कैद दिल से दिल मिले।

2 Line Sad Shayari Collection

है इश्क़ की मंज़िल में हाल कि जैसे,
लुट जाए कहीं राह में सामान किसी का।

कद्र हमारी भी करेंगे एक दिन ज़माने वाले देख लेना
बस जरा ये भलाई की बुरी आदत छूट जाने दो।

किसीने क्या खूब कहा है की,हवा भी बेकसूर और दिया भी बेकसूर ! एक को चलना है जरूर और दुसरे को जलना है जरूर।

Two Line Sad Shayari Collection

टूट जाए ख्वाब तो जुड़ने की आस क्या रखना , पलको के भीगने का हिसाब क्या रखना।
बस इसलिए मुस्कुरा देते हैं हम , की अपनी उदासी से किसी को उदास क्यों रखना।।

दिल को हमसे चुराया आपने दूर होते हुए अपना बनाया आप ने।
कभी भूल नहीं पाएंगे आप को क्योंकि याद रखना सीखाया आप ने।।

Two Line Dard Bhari Shayari

खैरियत नहीं पूछते मेरी मगर खबर रखते हैं,
मैंने सुना है वह मुझ पर ही नजर रखते हैं।

वो तेरे खत तेरी तस्वीर और सूखे फूल,
उदास करती हैं मुझ को निशानियाँ तेरी।

वह मेरा सब कुछ है पर मुक़द्दर नहीं,
काश वो मेरा कुछ न होता पर मुक़द्दर होता।

दिल को बुझाने का बहाना कोई दरकार तो था,
दुःख तो ये है तेरे दामन ने हवायें दी हैं।

अजब चिराग हूँ दिन-रात जलता रहता हूँ,
थक गया हूँ मैं हवा से कहो बुझाए मुझे।

अपनी जिंदगी अजीब रंग में गुजरी है,
राज किया दिलों पे और मोहब्बत को तरसे।

बिछड़कर फिर मिलेंगे यकीन कितना था,
बेशक ये ख्वाब था मगर हसीन कितना था।

खुद आग दे के अपने नशेमन को आप ही,
बिजली से इन्तेकाम लिया है कभी-कभी।

और शायरी पढ़ें :-



Post a Comment

1. कमेंट बॉक्स में किसी भी प्रकार की लिंक ना पेस्ट करें।
2. कमेंट में गलत शब्दों का प्रयोग ना करें।

Previous Post Next Post