Mother's day Shayari

मां, एक छोटा सा शब्द जो अपने आप में पूरा जहां समेटे है. मां से ज़्यादा हमें कोई प्रेम नहीं कर सकता। पिता का स्नेह भी है पर मां का रुतबा अलग है। हमने तो अपनी मां को हमें मारकर ख़ुद फूट-फूटकर रोते देखा है।

माँ वह रोशनी है जो,घर पर साथ रह कर
रास्ता दिखाती हैं पिता वह प्रकाश है
जो दुर रह कर भीअनुशासन सिखाता है।

ज़माने में सारा जहान देख लिया,
माँ की गोद सा पर कोई मुकाम ना मिला।।

पिता चाहे अमीर हो या गरीब अपनी संतान के लिए वो
बादशाह ही होता है

मां तेरे आशीर्वाद के बल पर हर मुसीबत से पार पा लूंगा मुझे किसी धाम की जरूरत नहीं मां तेरे चरणों में, स्वर्ग मैं पा लूंगा

जिस के होने से मैं खुद को मुक्कमल मानती हूं,
मैं रब के बाद..मैं बस मेरी मां को जानती हूं!

जब कोई कमी नही रखी मां ने बच्चों को पालने में,
फिर क्यूँ कसर रखी बच्चों ने बूढी मां को सम्भालने में।

इस दुनिया में मां बाप से बढ़ कर कोई सुरक्षित गोद नहीं।

मां से रिश्ता ऐसा बनाया जाए,
जिसको निगाहों में बिठाया जाए,
रहे उसका मेरा रिश्ता कुछ ऐसा
वो अगर उदास हो तो हमसे भी मुस्कुराया ना जाए।
मदर्स डे की हार्दिक शुभकामनाएं!

चलती फिरती आंखों से
अजां देखी है,मैंने जन्नत तो नहीं देखी है
माँ देखी है।। - मुनव्वर राना

लबों पे उसके कभी बद्दुआ नहीं होती
बस एक माँ है जो मुझसे ख़फ़ा नहीं होती।।
- मुनव्वर राना

किताबों से निकल कर तितलियां ग़ज़लें सुनाती हैं
टिफ़िन रखती है मेरी माँ तो बस्ता मुस्कुराता है
- सिराज फ़ैसल ख़ान

Mother Day Shayari Collection

एक हस्ती जो जान है मेरी
जो जान से भी बढ़कर शान है मेरी
रब हुक्म दे तो कर दूं सजदा उसे
क्योंकि वह कोई और नहीं मां है मेरी!

किसी ने रोजा रखा किसी ने उपवास रखा,
कुबूल उसका हुआ जिसने अपने माँ-बाप को अपने पास रख

कौन सी है वो चीज़ जो यहाँ नहीं मिलती,
सब कुछ मिल जाता है लेकिन “माँ” नहीं मिलती
छोटी सी ज़िन्दगी की फिकर बहुत हैं
मार डालती ये दुनिया कब की हमे।
लेकिन ‘माँ’ आपकी दुआओं असर बहुत है।

मां कौन सी है वो चीज़ जो यहाँ नहीं मिलती,
सब कुछ मिल जाता है लेकिन “माँ” नहीं मिलती…
माँ-बाप ऐसे होते हैं दोस्तों जो ज़िन्दगी में फिर नहीं मिलते,
खुश रखा करो उनको फिर देखो जन्नत कहाँ नहीं मिलती।

“माँ” की एक दुआ जिन्दगी बना देगी,
खुद रोएगी मगर तुम्हे हँसा देगी।
कभी भुल के भी ना “माँ” को रूलाना,
एक छोटी सी गलती पूरा अर्श हिला देगी।

Mother's day Shayari

बेहद मीठा कोमल होता है, मां के प्यार से ज्यादा
कुछ नहीं अनमोल होता है

रुके तो चांद जैसी है,चले तो हवाओं जैसी है,
वह माही हैजो धूप में भी छांव जैसी है!

उसके रहते जीवन में कोई गम नहीं होता,
दुनिया साथ दे ना दे पर मां का प्यार कभी कम नहीं होता!

मिलने को तो हजारों लोग मिल जाते हैं,
पर मां जैसा दोबारा कोई नहीं मिलता!

मत कहिए मेरे साथ रहती है मां,
कहिए कि मां के साथ रहते हैं हम।

मंजिल दूर और सफर बहुत है,
छोटी सी जिंदगी की फिक्र बहुत है,
मार डालती यह दुनिया कब की हमें
लेकिन मां की दुआओं में असर बहुत है!

Mother's day Shayari Collection

तेरे ही आंचल में निकला बचपन,
तुझ से ही तो जुड़ी हर धड़कन,
कहने को तो मां सब कहते
पर मेरे लिए तो है तु भगवान!

मेरे दिल का बस यही है कहना,
वह मां तुम बस ऐसे ही रहना!!

मेरी दुनिया में इतनी शोहरत है,
मेरी मां की बदौलत है।

हर इंसान के ज़िन्दगी में वह सबसे ख़ास होती है,
दूर होते हुए भी वह दिल के पास होती है,
जिसके सामने मौत भी अपना सर झुका दे,
वह और कोई नहीं बस माँ होती है।

सबने बताया कि, आज मां का दिन है..
कौन बताएगा कि वो कौन सा दिन है, जो मां के बिन है.
हैप्पी मदर्स डे

यूं ही नहीं गूंजती किल्कारीयां‬ घर आँगन‬ के हर कोने में..
जान ‎हथैली‬ पर रखनी‪ पड़ती है ‘माँ’ को ‘‪माँ‬’ होने में। 

जो आपकी खुशी के लिए हार मान लेता है,
उससे आप कभी जीतन सकते।

मां से रिश्ता ऐसा बनाया जाए,
जिसको निगाहों में बिठाया जाए,
रहे उसका मेरा रिश्ता कुछ ऐसा
वो अगर उदास हो तो हमसे भी मुस्कुराया ना जाए
मदर्स डे की हार्दिक शुभकामनाएं !

हजारों फूल चाहिए एक माला बनाने के लिए
हजारों दीपक चाहिए एक आरती सजाने के लिए
हजारों बूंद चाहिए समुद्र बनाने के लिए
पर माँ अकेली ही काफी है
बच्चों की जिंदगी को स्वर्ग बनाने के लिए।

हमारे कुछ गुनाहों की सज़ा भी साथ चलती है
हम अब तन्हा नहीं चलते दवा भी साथ चलती है।
अभी ज़िन्दा है मां मेरी मुझे कुछ भी नहीं होगा
मैं जब घर से निकलता हूं दुआ भी साथ चलती है।
यह भी पढ़ें :-



Post a Comment

1. कमेंट बॉक्स में किसी भी प्रकार की लिंक ना पेस्ट करें।
2. कमेंट में गलत शब्दों का प्रयोग ना करें।

Previous Post Next Post