7 Quality Control tools क्या काम करता है

7 Quality Control tools basic Quality Control tools होते हैं। इस टूल के जरिए डेटा कलेक्ट किया जाता है। डेटा कलेक्ट कर के Analyze किया जाता है। फिर Root cause को identify किया जाता है। Root cause को identify करने के बाद हम जो Action लेते हैं , उस action से क्या Results निकलता है। फिर उस results का Measuring किया जाता है। जो ये 7 Quality Control tools है ये Numerical Data पर काम करता है। Analyze करने के बाद Solutions Development करना होता है। फिर उसका Implement करना होता है। तो चलिए अब जानते वो 7 Quality Control Tools कौन से हैं जो हमें इसमें मदद करतें हैं।

7 Quality Control tools क्या होता है।

चलिए जानते हैं ये 7 Quality Control tools कौन कौन से हैं। अब हम एक एक करके इन टूल्स के बारे में विस्तार से जानेंगे चलिए शुरू करते हैं।

1. Cause & Effect Diagram
ये हमारा पहला टूल है। इसे Fishbone Diagram भी कहा जाता है क्योंकि यह Diagram देखने में Fish लगती है।
यह भी पढ़ें :-
Micrometer कितने प्रकार के होते हैं।

QC में इस्तेमाल होने वाले Instruments और Gauges

Quality Management क्या होता है।

2. Flow Charts
ये टूल हमें किसी Process के sequence को समझने में हेल्प करता है। इसमें हम प्रोसैस को स्टेप बाई स्टेप समझते हैं। कि हमारा प्रोसैस किस तरह Flow करेगा।

3. Check Sheet
चैक शीट हमे Data Collect करने और Organizing करने में हेल्प करता है। जिससे कि जो हमारी Analysis है। उसको improvement  कर सके।

4. Histogram 
Data Collection करने के बाद उसके Distribution को समझने के लिए Histogram tool की बहुत जरूरत होती है। इसका प्रयोग Six Sigma के प्रैक्टिस में भी किया जाता है। एक अच्छा Histogram बनाने के लिए हमारे कम से कम हमारे पास 30 डाटा वैल्यू होने चाहिए। पर अगर आप Mass Man Manufacturing में है तो कम से कम 100 या उससे ज्यादा का data Value Collect करें। क्योंकि जितना ज्यादा डाटा हमारे पास होगा। हमारा Analisis भी उतना सटीक होगा।

5. Pareto Chart 
Problem Solving में ये टूल काफी उपयोगी है। यह एक Prioritisation tool है। ये टूल हमें Problem को Analyze करने के बाद उसे Priorities करने में मदद करता है। क्योंकि कोई संगठन या कम्पनी हो चाहे वो Manufacturing या Service देने वाली कम्पनी हो जो हमारे पास Problem आती है। Practically सम्भव नहीं होता की हम उन सब Problem पर एकसाथ काम करें। तो Problem को Priorities करने के लिए Pareto tool का उपयोग किया जाता है। तो Problem को Priorities करने के बाद। जिस Problem पर काम करना ज्यादा जरूरी होता है उसे Vital Few कहा जाता है और जिस Problem पर काम बाद में किया जा सकता है उसे Trivial Manyकहा जाता है। तो पहले हम Vital Few पर फोकस करते हैं और बाद में Trivial Many पर फोकस करते हैं।

6. Control Chat
इस टूल का Primary Purpose अपने Process की Established को चैक करना होता है। यानी कि हम ये देखना चाहते हैं कि हमारा प्रोसैस एक लम्बे समय तक कैसे काम करेंगा। कहीं हमारा प्रोसैस out of Control ना हो जाएं।

7. Scatter Diagram 
 यह काफी महत्वपूर्ण टूल है। इसका इस्तेमाल किसी भी दो Variable के Relationship को जानने के लिए किया जाता है। Scatter एक Graphical Representative है। इसमें हमें कोई नंबर नहीं मिलता है। हमे Graphically पता चलता है कि दो Variable के बीच Relationship है की नहीं।

यह भी पढ़ें :-
5S Methodology क्या है। 5S Implementation

Poka Yoke क्या है।‌ Poka Yoke कैसे करते हैं।

Six Sigma क्या है Six Sigma का Implementation कैसे करते हैं

QA और QC में क्या अन्तर होता है जानिए।

Vernier Caliper कितने प्रकार के होते हैं और।

Post a Comment

1. कमेंट बॉक्स में किसी भी प्रकार की लिंक ना पेस्ट करें।
2. कमेंट में गलत शब्दों का प्रयोग ना करें।

Previous Post Next Post