Mechanical Measuring instruments And Gauges

Mechanical Measuring instruments and Gauges in Hindi


Measuring Instruments वे device होते जो किसी वस्तु के Exact Size और Dimensions को मापने के लिए उपयोग किए जाते हैं। इन्हें डायमेंशन कंट्रोल इंस्ट्रूमेंट्स भी कहा जाता है। ये एडजस्टेबल डिवाइस होते हैं जिन्हें 0.001 या उससे भी बेहतर तक माप सकते हैं।


Gauge एक फिक्स्ड dimensions instruments होते हैं। Gauges कई प्रकार की होती है। जैसे Outer Dia Gauge , Inner dia Gauge , Plug Gauge , Snap Gauge , Depth Gauge , height Gauge , Angel Gauge , Redis Gauge. पर इन Gauges को adjust नहीं किया जा सकता। क्यो कि ये फिक्स होते हैं। 

1. वर्नियर कैलिपर: -
वर्नियर कैलिपर एक ऐसा instrument है, जिसका उपयोग extet Dimension के साथ साथ ही internal वस्तुओं के आकार, जैसे कि शाफ्ट, किसी भी वस्तु की thickness , Holes और स्लॉट की गहराई को मापने लिए किया जाता है। Vernier Caliper से  कम से कम 0.02mm तक का माप ले सकते हैं। परन्तु Digital Vernier Caliper से हम 0.01mm का माप ले सकते हैं। Micrometer से हम  0.001 मिमी की गिनती का माप लें सकते हैं। 

2. Vernier Height Gauge :
जैसा कि इसके नाम से ही पता लगता है कि इसका उपयोग मुख्य रूप से Parts की height को नापने के लिए किया जाता है। इससे 0.02mm की Accuracy के साथ नाप सकते हैं।

3. Vernier Depth Gauge:
Vernier Depth Gauge का उपयोग 0.02 मिमी की Accuracy के साथ लिए Holes, recesses और Distance को Plan Surface तक की गहराई को मापने के लिए किया जाता है।

4. Ring Gauge:
Ring Gauge का उपयोग मुख्य रूप से Shafts या Studs के Diameter को Check या Measuring के लिए किया जाता है।
यह भी पढ़ें :- 


5. Plug Gauge:
Plug Gauge का उपयोग Hole की accurate Measurement के लिए किया जाता है। इंजीनियरिंग कंपनियों जैसे Manufacturing कंपनियों, टूल रूम, workshop में  स्टैंडर्ड प्लग गेज बहुत महत्वपूर्ण instruments होता है। Limit Plug Gauge का उपयोग वहां किया जाता है जहां बड़ी मात्रा में उत्पादन किया जाता है। Single Ended Plug Gauge Limit  Plug Gauge में अलग-अलग Go & No Go members होते हैं।

6. Snap Gaugy:
Snap Gauges का उपयोग वस्तु के Outer Diameters को मापने के लिए किया जाता है।

7. Slip Gauges:
Slip Gauge का उपयोग चीजों की thickness या अंदर के चौड़ाई को मापने के लिए किया जाता है। 

 8. Feeler Gauge:
 Feeler Gauge का उपयोग दो Clearness Surface   के बीच की दूरी की जांच करने के लिए किया जाता है।

9. Inside Micrometer:
Inside Micrometre का उपयोग आम तौर पर 0.01 मिमी की सटीकता के साथ Diameter को Accuracy  के साथ माप सकते हैं। 

10. Outside Micrometer:
इसका उपयोग 0.01 मिमी की Accurate के साथ वस्तुओं के outside Diameter को मापने के लिए किया जाता है।

11.Screw Thread Micrometer:
इसका उपयोग 0.01 मिमी की सटीकता के साथ pitch screw Thread के Diameter को मापने के लिए किया जाता है

12. Depth Gauge Micrometer:
Depth Gauge Micrometer का उपयोग 0.01 मिमी की सटीकता के साथ Holes, Slots और recessed areas की Depth को मापने के लिए किया जाता है।

13. Combination Set:
कॉम्बिनेशन सेट एक बहुत ही महत्वपूर्ण Instrument है और इसमें ट्राई स्क्वायर, बेवल प्रोट्रैक्टर, रूल और स्क्राइबर की सभी आवश्यक विशेषताएं हैं।

14. Universal Vevel Protractor:
यूनिवर्सल बेवल प्रोट्रेक्टर्स वे Instrument हैं जिनका उपयोग Angel को 5minutes (एक डिग्री का 1/12 डिग्री) के साथ मापने के लिए किया जाता है। इन चीज़ों को वर्नियर बेवल प्रोट्रक्टर्स भी कहा जाता है।

15. Sine Bar:
इनका उपयोग Angel को मापने के लिए किया जाता हैं। जो बेवल प्रोट्रैक्टर्स की तुलना में अधिक सटीक रूप से मापता है या किसी भी काम को बहुत ही सीमित सीमा के भीतर किसी भी कोण पर लगाने के लिए किया जाता है।

16.Scribing Block:
Scribing Block उपयोग Round Bar के Center का पता लगाने के लिए किया जाता है।

17.Surface Plates:
सरफेस प्लेट का उपयोग फ्लैट सरफेस के Trueness को जांचने के लिए किया जाता है।

18.Tolerance:
यह dimensions के upper Limit और Lower Limit के बीच के अंतर के रूप में परिभाषित किया जाता है।

19.Upper Deviation:
Upper Limit और Basic Size के बीच Algebraic अंतर को upper Deviation कहा जाता है।

20. Lower Deviation:
Lower Limit और Basic Size के बीच algebraic अंतर को Lower Deviation कहा जाता है।

यह भी पढ़ें :- 


Post a Comment

1. कमेंट बॉक्स में किसी भी प्रकार की लिंक ना पेस्ट करें।
2. कमेंट में गलत शब्दों का प्रयोग ना करें।

Previous Post Next Post