चीन का घातक Corona Virus ने बहुत तेजी से फैल रहा है। मौत के इस वायरस ने पिछले दो महीनों में चीन के अलावा भारत सहित 80 देशों को अपनी चपेट में ले लिया है। दुनियाभर में अब तक 3202 लोगों के मौत हो गई है और 93160 लोग संक्रमित हैं। इनमें सबसे ज्यादा 2981 मौत सिर्फ चीन में हुई हैं उसके बाद इटली में 79 और ईरान में 77 लोगों की जान गई। WHO ने इसे COVID-19 नाम दिया है। कोरोना वायरस का अभी तक कोई टीका या इलाज नहीं मिला है हालांकि वैज्ञानिक इसका इलाज खोजने में लगे हैं।

Corona Virus के सामान्य लक्षण और संकेत

बुखार, खांसी, सांस की कमी या सांस लेने में परेशानी होना कोरोना वायरस के संकेत और लक्षण हैं जो 14 दिनों तक रह सकते हैं। अभी तक कोरोना वायरस की पहचान इन लक्षणों के आधार पर हो रही है।
How-to-avoid-corona-Virus
Corona Virus के सामान्य संकेत और लक्षणों में श्वसन संबंधी लक्षण, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना आदि शामिल हैं। अधिक गंभीर मामलों में, संक्रमण से निमोनिया, सेवेर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम, किडनी फेलियर यहां तक कि मृत्यु भी हो सकती है।

Corona Virus से बचने के लिए 24 घंटे अपने पास रखें ये चीजें।

रुमाल
Corona Virus के लक्षण फ्लू जैसे ही हैं और छींकने, खांसने, हाथ मिलाने, लगने और हवा के जरिये फैल रहा है। इसलिए आपको अपने पास रुमाल रखना चाहिए ताकि छींकते या खांसते समय मुंह और नाक को कवर किये जा सके।

सैनिटाइजर
आपको अपने पास अल्कोहल बेस्ड सैनिटाइजर रखना चाहिए। डॉक्टर बार-बार यह कह रहे हैं कि किसी भी चीज को छूने के बाद आपको अल्कोहल बेस्ड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना चाहिए। इसके अलावा आपको बार हाथों से मुंह, नाक और आंखों को छूने से बचना चाहिए।

साबुन
सादे पानी से हाथ धोने से कोई फायदा नहीं होता है इसलिए आपको एक साबुन या बोटल पैक में मिलने वाला साबुन फोम अपने पास रखना चाहिए ताकि जब आपको जरूरत पड़े तो आप हाथों को अच्छी तरह धो सकें।

साफ़ पानी
अपने पास पानी की एक बोटल जरूर रखें। कहीं भी यात्रा करने के बाद अपने हाथों को साफ पानी और साबुन लगाकर अच्छी तरह धोयें। इसके बाद हाथों को सूखे रुमाल से जरूर साफ करें।

वेट वाइप्स
अगर आप ऊपर बताई गई चीजों को अपने साथ नहीं रख सकते हैं, तो आपको गीले वाइप्स जरूर रखने चाहिए। जब आप ट्रेन, या बस से सफर करके उतरें या किसी से हाथ मिलाएं तो उसके बाद अपने हाथों को अच्छी तरह पोंछ लें।

कीटाणुनाशक स्प्रे
आपको अपने पास कीटाणुनाशक स्प्रे रखना चाहिए। यात्रा के दौरान या किसी भी जगह जहां आप बैठने वाले हैं, उस जगह पर आपको स्प्रे करना चाहिए। ताकि उस जगह पर कीटाणुओं को ख़त्म किया जा सके।

अल्कोहल प्रेप पैड्स
स्मार्टफोन स्क्रीन में अक्सर एक कोटिंग होती है जो उन्हें ऑयल-रेसिस्टेंट बनाने के लिए डिज़ाइन की जाती है। इसे साफ़ करने के लिए आप अल्कोहल प्रेप पैड्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। बताया जाता है कि मोबाइल की स्क्रीन पर हद से ज्यादा कीटाणु पाए जाते हैं।

Corona Virus कैसे फैलता है।

कोरोना वायरस एक वायरस परिवार से आता है जिसका नाम कोरोना उसके क्राउन आकार के कारण रखा गया है (लैटिन में कोरोना का अर्थ है "क्राउन")। यह एक प्रोटीन से बना होता है, जिसे स्पाइक प्रोटीन कहा जाता है, जो वायरस की सतह से चिपक जाता है।

Corona Virus के प्रकार और ट्रांसमिशन
कोरोना वायरस कोरोनवीरिड से संबंधित हैं, और इसके सात प्रकार हैं जो मनुष्यों को संक्रमित कर सकते हैं ।

प्रकार
चार सामान्य प्रकार के मानव कोरोना वायरस के सामान्य लक्षण सर्दी होते हैं।

ये चार कोरोनवीरस- 229E, NL63, OC43, HKU1- को अक्सर समुदाय-अधिग्रहित कोरोन वायरस के रूप में संदर्भित किया जाता है क्योंकि वे दुनिया भर में आम लोगों को संक्रमित करते हैं ।

अन्य तीन कोरोनविर्यूज़ अधिक चिंताजनक हैं क्योंकि उन्हें निमोनिया और मृत्यु जैसी गंभीर बीमारियों से जोड़ा गया है।

ट्रांसमिशन
अमेरिका में, कोरोनो वायरस सबसे अधिक लोगों को सर्दियों में संक्रमित करता है ।

जिन तरीकों से वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है वह हैं:

बूंदें (किसी ऐसे व्यक्ति को जिसे वायरस है उसकी खांसी या छींक)
स्पर्श (जैसे, किसी संक्रमित व्यक्ति से हाथ मिलाना या किसी ऐसी वस्तु को छूना जिसमें वायरस हो और फिर हाथ धोने से पहले आपके मुंह, आंख या नाक को छूना)
मल (संक्रमित रोगियों से मौखिक प्रसार)
लक्षण:

चार कोरोना वायरस आमतौर पर upper respiratory tract में "ठंड" के लक्षण पैदा करते हैं, जैसे:
बहती नाक
खांसी
गले में खराश
बुखार
सरदर्द

कभी-कभी, कोरोनावायरस आपके श्वसन तंत्र और जटिलताओं को प्रभावित कर सकता है, जैसे निमोनिया या ब्रोंकाइटिस, विकसित हो सकता है।

ये जटिलताएं शिशुओं और बुजुर्गों, साथ ही साथ suppressed immune system या हृदय या फेफड़ों की बीमारी वाले लोगों में अधिक आम हैं। कोरोना वायरस से बचाव के लिए स्वच्छ रहें।

Corona Virus को लेकर कॉर्बेट प्रशासन लापरवाह

Corona Virus से विश्व में हड़कंप मचा है और दिल्ली, नोएडा व आगरा में भी कोरोनावायरस से ग्रसित मरीज भी मिले हैं। इसके बावजूद कॉर्बेट प्रशासन की ओर से सतर्कता नहीं बरती जा रही है। यहां आने वाले विदेशी सैलानियों की जांच पड़ताल नहीं हो रही है।
कॉर्बेट टाइगर रिजर्व में विदेशी सैलानी काफी संख्या में आते हैं। ऐसे में विदेशी सैलानियों को लेकर कॉर्बेट प्रशासन की ओर से कोई तैयारी नहीं की गई है। अप्रैल 2019 से फरवरी 2020 तक देशभर के दो लाख 35 हजार सैलानी कॉर्बेट पार्क घूम चुके हैं। वहीं इस दौरान पांच हजार से अधिक विदेशी सैलानी कॉर्बेट घूमने आए। दिसंबर 2019 से फरवरी 2020 तक एक हजार से अधिक विदेशी सैलानी पार्क में भ्रमण कर चले गए।
कोरोनावायरस को लेकर सतर्कता बरतने के निर्देश दिए जा रहे हैं। हालांकि यहां आने वाले किसी विदेशी सैलानी के स्वास्थ्य की जांच नहीं की गई। - राहुल, निदेशक सीटीआर

Corona Virus के डर से तेज़ी से मास्क का स्टाॅक खत्म हो रहा है। 

Corona Virus के चलते दिल्ली में मास्क और सेनिटाइजर का स्टॉक खत्म होने और सरकारी विभागों द्वारा कार्रवाई नहीं होने के बाद बुधवार को दिल्ली के डॉक्टरों ने साफ किया है कि हर किसी को मास्क पहनने की जरूरत नहीं है। इससे पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) भी इस बारे में देश के लोगों को सलाह दे चुका है।
कालरा अस्पताल के निदेशक डॉ. आरएन कालरा का कहना है कि बीते दो दिन में हर कोई मास्क और सेनिटाइजर को खरीदने में जुटा हुआ है। जबकि मास्क हर किसी के लिए जरूरी नहीं है। जो लोग अस्पतालों में काम कर रहे हैं या फिर जिनके घर या पड़ोस में कोई संदिग्ध केस है, ऐसे लोग मास्क का इस्तेमाल कर सकते हैं। ये एक भय का माहौल देखने को मिल रहा है जोकि बिलकुल गलत है। कोरोनावायरस से दिल्ली वालों को घबराने की जरूरत नहीं है। न ही इस तरह की फिजुल खर्च करने की। स्वस्थ्य लोगों को सतर्कता बरतने के अन्य उपायों पर ध्यान देना चाहिए, न कि मास्क पर फोकस करना चाहिए।

Corona Virus Se Kaise Bache

Corona Virus Kaise Failta hai

Corona Virus Ka ilaz Kya hai

Corona Virus Kya Hota hai

Corona Virus Se Log Kaise Marte hai

Corona Virus Ke Lachsan Kya hai

Corona Virus Kaise Faila

वहीं, आई 7 के डॉ. संजय चौधरी ने कहा कि यदि आप के घर में कोई बीमार है या आप किसी रोगी की सेवा कर रहे हैं तो आपको मास्क पहनना अनिवार्य है। यदि आप सार्वजनिक वाहनों में जा रहे हैं तो आपको मास्क पहनना जरूरी है क्योंकि उस वक्त बस या मेट्रो में कौन सर्दी-जुकाम की चपेट में है, इसे आप नहीं जानते हैं। लोकनायक अस्पताल के डॉक्टर मनीष वर्मा डब्ल्यूएचओ का हवाला देते हुए बताते हैं कि अगर आप स्वस्थ्य हैं तो आपको सिर्फ तभी मास्क पहनना है जब कोरोनावायरस के संदिग्ध मरीज की केयर कर रहे हों। अगर आपको खांसी या जुकाम है तो मास्क जरूर पहनें।
यह भी पढ़ें :-
कोरोनावायरस पर मोदी जी का संदेश। Janta Curfew

कोरोनावायरस से पहले ये 7 महामारियां भी लाखों लोगों को मार चुकी है।

Social Distance बना कर कोरोनावायरस से कैसे बचें।

स्वस्थ रहने के लिए अपनाएं ये उपाय

खुद को स्वस्थ रखने के टिप्स और उपाय।

Post a Comment

1. कमेंट बॉक्स में किसी भी प्रकार की लिंक ना पेस्ट करें।
2. कमेंट में गलत शब्दों का प्रयोग ना करें।

Previous Post Next Post