Janta Curfew क्या है। 


वैज्ञानिक दृष्टि से देखा जाए तो 24 घंटे का कर्फ्यू वायरस चक्र में एक ब्रेक साबित हो सकता है...24 घंटे अगर वायरस को नए इंसानी शरीर नही मिलेंगे तो वातावरण में मौजूद काफी वायरस खत्म हो जाएंगे...हमारी सड़कें, दफ्तरों के दरवाजे, रैलिंग लिफ्ट आदि स्वतः ही सेनेटिज़ हो जाएंगे और ऐसे स्थानों पर गिरा हुआ वायरस खुद ही मर जाएगा और वायरस के जीवन चक्र रुक जाएगा यह एक ऐसा कदम साबित होगा कि वायरस खुद ही खत्म हो जाएगा और हम लोगों का जीवन बचा रहेगा।

Corona Virus से बचने के लिए मोदी का संदेश।

*प्रधानमंत्री द्वारा देश के नाम संबोधन की मुख्य अंश*

*# आने वाले हफ़्तों में घर से बाहर न निकलें।*

*# 22 मार्च को  सुबह 7 बजे से 9 बजे तक जनता कर्फ्यू का कड़ाई से अनुपालन करें एवं घर से एकदम नहीं निकलें।*

*# 22 मार्च को संध्या 5 बजे 5 मिनट के लिए कोरोना के रोकथाम में लगे स्वास्थ्यकर्मियों, सफाईकर्मी, मीडिया कर्मी के प्रोत्साहन के लिए ताली बजाकर, घंटी, थाली आदि बजाकर उनके सेवा का आभार व्यक्त करें।*

*# 60 वर्ष से ऊपर बुजुर्ग एवं 10 वर्ष से छोटे बच्चे एकदम घरों से बाहर नही निकलें।*

*# किसी प्रकार के समारोह का आयोजन नहीं करे एवं भीड़ से बचें।*

*# स्वयं कोरोना के संक्रमण से बचें एवं अपने परिवार, प्रियजन को संक्रमण से बचायें।*

*सभी से अपील है कि आइए कोरोना संक्रमण रोकने की मुहिम में अपने आप को शामिल कर मिलकर मुकाबला करें।*

इस संदेश को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाए।

इस जनता कर्फ्यू का क्या परिणाम होगा

Janta Curfew से क्या फायदा होगा।

चूंकि एक स्थान पर कारोना वायरस का जीवनकाल 12 घंटे है और जनता कर्फ्यू14 घंटे के लिए होगा, इसलिए सार्वजनिक क्षेत्रों के स्थान जहां कारोना फैल सकता था ,उन स्थानों पर कोई नही होगा , जिससे श्रृंखला टूट जाएगी।
 14 घंटे के बाद हमें जो मिलेगा वह एक सुरक्षित देश होगा।
 तो इस जनता कर्फ्यू के पीछे का आइडिया शानदार  है। यह एक ड्रिल समान होगा, यदि निकट भविष्य में अधिक समय तक की आवश्यकता भी होगी ... तो भी हम सभी इसके लिए तैयार है। घर की छत पर खड़े होके शंखनाद किया जाएगा

यह जरूरी आर्टिकल भी पढ़ें :-
कोरोनावायरस से बचने के तरीके और लक्षण

Post a Comment

1. कमेंट बॉक्स में किसी भी प्रकार की लिंक ना पेस्ट करें।
2. कमेंट में गलत शब्दों का प्रयोग ना करें।

Previous Post Next Post