रक्षाबंधन की शायरी और संदेश


रक्षाबंधन एकमात्र ऐसा त्यौहार है जो भाई-बहन का त्यौहार मनाया जाता है इस दिन बहन अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधती है। और जीवन भर रक्षा करने का वचन भी देती है। श्रावण मास की पूर्णिमा को यह पर्व मनाया जाता है। इसकी शुरुआत के बारे में देखें तो यह भाई-बहन का त्यौहार नहीं बल्कि विजय प्राप्ति के किया गया रक्षा बंधन है। एक ओर जहां भाई-बहन के प्रति अपने दायित्व निभाने का वचन बहन को देता है, तो दूसरी ओर बहन भी भाई की लंबी उम्र के लिये उपवास रखती है।


1. भाई का प्यार किसी दुआ से कम नहीं होता चाहे दूर भी हो कोई गम नहीं होता अक्सर रिश्ते दूरियों से फीके पड़ जाते हैं फिर भी बहन का प्यार कभी कम नहीं होता।

2. सावन की रिमझिम फुहार के बीच
पुष्पों में नई आभा निखरती है।
भाई-बहन की मीठी तकरार के बीच
प्यार की खुशियाँ खनक उठती है।।


RakshaBandhan-Massages-and-Quotes


3. चन्दन की लकड़ी फूलों का हार अगस्त का महीना सावन की फुहार , भाई की कलाई पर बहन का प्यार मुबारक हो आप सबको रक्षाबंधन का त्यौहार।।


4. राखी हुई , रोली हुई और हुई तुम्हारी मिठाई।
अब तो मेरा उपहार दे दो मेरे प्यारे भाई।।

5. चन्दन का टीका रेशम का धागा , सावन की सौगंध बारिश की फुहार भाई की उम्मीद बहन का प्यार मुबारक हो आप सबको रक्षाबंधन का त्यौहार।।

6. बहन मांगे भाई का प्यार , नहीं चाहिए मंहगे उपहार।
रिश्ता अटूट रहे सदियों तक , मिले भाई को खुशियां अपार।।

7. बहन चाहे कितनी भी दुबली-पतली क्यों ना हो भाई हमेशा कहता है कम खा मोटी हो जाएगी।


8. एक भाई सिर्फ भाई नहीं होता है। बल्कि एक मुश्किल वक्त आने पर एक दोस्त की कमी को पूरा करता है।।

9. रक्षाबंधन का है त्यौहार है हर तरफ है खुशियों की बौछार।।
बंधा है एक रेशम की डोरी में भाई बहन का प्यार।।

10. आया राखी का त्यौहार , छाई खुशियों की बहार।
एक रेशम की डोरी से बहन ने बंधा भाई की कलाई पर प्यार।।

11. कभी हमसे लड़ती है कभी हमसे झगड़ती है।
लेकिन बिना कहे हमारी हर बात बहन समझती है।।
2होली कलरफुल होती है , दिवाली लाईटफुल होती है।
मगर रक्षाबंधन हो जो Powerful Relationship होती है।।

12. साथ पले , साथ बढ़े खुब मिला बचपन प्यार ।
भाई बहन का प्यार बढ़ाने आया है ये त्यौहार।।

13. गलियां फूलों से सजा रखीं हैं। हर लड़की मोड़ पर लडकियां बैठा रखी है।
ना जाने किस राह से तुम आओगे इसलिए हर लड़की के हाथ में राखी थमा रखीं हैं।।

14. बहन चाहे सिर्फ प्यार - दुलार , नहीं मांगती बड़े उपहार।
रिश्ता बनें रहें सदियों तक , भाई को मिले खूबियां अपार।।

15. सुरज की तरह चमकते रहो , फूलों की तरह महकते रहो।
इस बहन की बस यही दुआ है कि आप सदा खुश रहो।

16. भवेमन में उल्लास और उमंग हो , हाथ में राॅली , रक्षा सूत्र संग हो।
भाई बहन के प्यार का यह बंधन आजीवन हमारे संग हो।।

17.राखी कर देती है सारे गिले-शिकवे दूर
इतनी ताकतवर होता है कच्चे धागे की पावन डोर।।

18. देखो इस राखी की ताकत को जो भाई झुकता नहीं किसी के आगे।
वो भाई झुकता है बहन के आगे।।

<--------------------------------------------------------------->

रक्षाबंधन पर्व तिथि एवं शुभ मुहूर्त 2018


26 अगस्त

रक्षाबंधन अनुष्ठान का समय- 05:59 से 17:25

अपराह्न मुहूर्त- 13:39 से 16:12

पूर्णिमा तिथि आरंभ – 15:16 (25 अगस्त)

पूर्णिमा तिथि समाप्त- 17:25 (26 अगस्त)

भद्रा समाप्त: सूर्योदय से पहले

राखी बांधने का ये समय अशुभ रहेगा

राहुकाल- सुबह 5.13 से 6.48 बजे

यम घंटा -दोपहर 3.38 से 5.13 बजे

काल चौघड़िया दोप-दोपहर 12.28 से 2.03

दोस्तों अगर आपको हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ शेयर जरुर करें धन्यवाद।
इसे अपने सगे संबंधियों के साथ सोशल मीडिया पर जरुर शेयर करें।

यह भी पढ़ें :-