Chainaman Blowing Kya Hoti hai


 आज के समय किक्रेट एक बात हर जगह सुनने को मिल रही हैं। उसका नाम है चाइनामैन। इस का कारण है इंडिया टीम के स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव। चाइनामैन नाम एक बार फिर सुर्खियों में है। कुलदीप यादव गेंद से बहुत अच्छा प्रर्दशन कर रहे हैं। उन्होंने हाल ही में हुए आईपीएल में अपना अब तक का सबसे बेहतरीन प्रदर्शन किया है। उन्होंने 20 रन देकर चार विकेट लिए। कोलकाता नाइटराइडर्स की तरफ़ से खेलते हुए कुलदीप यादव ने राजस्थान रॉयल्स के 4 आउट कर दिए मात्रा 20 रन देकर। आईपीएल के इतिहास में किसी भी स्पिनर का कब तक का सबहस बेहतरीन प्रदर्शन है।  इस प्रदर्शन के बाद चारों ओर Chainaman Blowing  की ही बात हो रही है। कुलदीप यादव भारत के पहले चाइनामैन गेंदबाज हैं। कुलदीप यादव की सफलता के कारण कई लोग यह जानना चाहते है कि ये चाइनामैन गेंदबाजी क्या होती हैं। इसे लेकर लोग गूगल पर सर्च कर रहे हैं। Twitter , Facebook , Instagram हर जगह ये सवाल पूछे जा रहे हैं कि ये चाइनामैन क्या है।

Chainaman-Blowing-kya-hoti-hai

क्या होती है चाइनामैन गेंदबाजी

जब कोई गेंदबाज बाएं हाथ का स्पिनर अपनी कलाईयों से गेंद को घूमाता है तो उसे चाइनामैन बाॅलिंग कहते हैं। कुलदीप यादव भारत के पहले Chainaman Blower's  हैं। वो इस आईपीएल में अपनी गेंदबाजी से काफी अच्छा कर रहे हैं। चाइनामैन शब्द का इस्तेमाल सबसे पहले वेस्टइंडीज के गेंदबाज एलिस अचोंग के लिए किया गया। वह चीनी मूल के थे।

इसके पीछे क्या कहानी है

Chainaman Blowing के बारे में जानने के पहले ्, हमें एक कहानी जाननी होगी। एक किक्रेटर थे , उनका नाम एलिस अचोंग था। वह वेस्टइंडीज की तरफ़ से खेलते थे। वह चीनी मूल के थे। उनकी खासियत यह थी कि वो थे तो बाएं हाथ के स्पिनर लेकिन उनकी गेंद दांए हाथ के बल्लेबाज के आॅफ से लेग की तरफ को स्पिन होती थी। यह वाक्य 1933 का है जब इग्लैइं और वेस्टइंडीज के बीच मैच खेला जा रहा था। इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच ओल्ड ट्रैफर्ड में मैच चल रहा था। एलिस आचोंग ने अपनी इसी तरह की एक गेंद पर इंग्लैंड के बल्लेबाज वाल्टर रोबिन्स को स्टंप आउट करा दिया। कहा जाता है कि जब रोबिन्स आऊट हो कर पैवेलियन लौट रहे तो उन्होंने कहा " Boldy Chainaman ने क्या चकमा दिया " तब से यह चाइनामैन शब्द किक्रेट से जुड़ गया और बाएं हाथ से दांए हाथ के बल्लेबाज को लेग स्पिन कराने वाले गेंदबाजों को चाइनामैन कहा जाने लगा। एलिस अचोंग दुनिया के सबसे पहले चाइनामैन गेंदबाज थे।

क्यो खास होते हैं चाइनामैन गेंदबाज

वैसे दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाज चार्ली बक लेवलिन ने यह दावा किया कि सबके पहले इस तरह की गेंदबाजी उन्होंने की थी। दुनिया मे बहुत कम Chainaman Blower's हुए हैं। इसलिए चाइनामैन गेंदबाज खास हो जातें हैं।  चक फ्लीटवुड  स्मिथ , पाल एडम्स , ब्रैड हॉग , डेव मुहम्मद , अब तक के चाइनामैन गेंदबाज हुए हैं। वेस्टइंडीज के महान आलराउंडर गैरी सोबर्स कभी कभार ऐसी गेंदबाजी करते थे। 

कुलदीप यादव कुदरती चाइनामैन गेंदबाज हैं

कुलदीप यादव भारत के पहले चाइनामैन गेंदबाज हैं। कुलदीप यादव ने कभी भी ऐसी गेंदबाजी की कोई प्रैक्टिस नहीं की। उन्होंने जब से गेंदबाजी शुरू की है। तब से स्वाभाविक रूप से ऐसे ही गेंदबाजी करते हैं। कुलदीप अब इस में काफी माहिर हो चुके है। उन्होंने अपने डेब्यू मैच में आस्ट्रेलिया के खिलाफ बहुत शानदार प्रदर्शन किया था। कुछ समय बाद आस्ट्रेलिया के खिलाफ ईडन गार्डन में वन-डे श्रृंखला में हैट्रिक भी ली थी। सचिन तेंदुलकर प्रैक्टिस के दौरान जब कुलदीप की गेंद पर आउट हुए तो सब हक्के बक्के रह गए। 

ये हैं वो गेंदबाज जो इस कला में माहिर रहें हैं

किक्रेट इतिहास में इंग्लिश गेंदबाज जाॅनी लाडले को ऐसा ही स्पिनर माना जाता है। लाॅडले ने 25 टेस्ट मैचों में 102 विकेट लिए थे। वह इंग्लैंड के एकमात्र Chainaman Blower थे। ब्रैड हॉग भी एक सफल चाइनामैन गेंदबाज थे। वो 2003 और 2007 में वर्ल्ड कप जीतने वाली आस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा रहे। श्री लंका के अजंता मेंडिस भी एक सफल चाइनामैन गेंदबाज रहे हैं। 

यह भी पढ़ें :- 




Post a Comment

0 Comments