-->

SSC Exams Ko Crack Kaise Kre


SSC-Exams-ko-Creck-kaise-kre


कर्मचारी चयन आयोग हर साल विभिन्न सरकारी विभागों और मंत्रालय में विभिन्न पदों के लिए SSC Exams और सीएचएसएल परीक्षा आयोजित करता है। लाखों इच्छुक उम्मीदवार जो सरकारी नौकरियों को पाना चाहते हैं इस नौकरी के लिए आवेदन करते हैं। हर साल एसएससी सीएचएसएल पदों के लिए प्रतियोगिता दिन पर दिन कठिन होती जा रही है। क्योंकि हर साल अधिक से अधिक उम्मीदवार लिखित परीक्षा दे रहे हैं। इस में चयन के चार रास्ते सम्मिलित हैं। सबसे पहले अभ्यर्थी को टियर -1 को टियर 2 लिखित परीक्षा के तहत जाना होता है। इसके बाद आयोग वर्णनात्मक पेपर और कंप्यूटर प्रवीणता परीक्षा के आधार पर पदों के लिए अंत में चयन करता है। अतः उम्मीदवार इस परीक्षा के इन चरणों को पूरे ध्यान और तैयारी के साथ पास करके सफल उम्मीदवारों की सूची में अपने नाम को दर्ज करा सकते है। यह सूची हर साल भर्ती प्रक्रिया के अंत में आयोग द्वारा तैयार की जाती है। SSC सीएचएसएल परीक्षा फार्म भरने के बाद उम्मीदवारो को तदनुसार लिखित परीक्षा की तैयारी शुरू करनी चाहिए।  SSC CHSL परीक्षा फार्म भरने के बाद उम्मीदवारों को लिखित परीक्षा की तैयारी शुरू करनी चाहिए। टियर -1 परीक्षा का का स्तर टियर -2 परीक्षा के स्तर से कम होता है। कई उम्मीदवार टियर -1 की परीक्षा को लापरवाही से लेते हैं।


 संभवता कई उममीदवार ये गलती कर जाते है। क्योंकि टियर -1 इस भर्ती में आगे बढ़ने के लिए सबसे पहला और सबसे महत्वपूर्ण चरण है। टियर -1 के अलावा टियर -2 भी अति महत्वपूर्ण है।क्योंकि दोनों चरणों के अंक अंतिम मेरिट लिस्ट में सम्मिलित किए जाते हैं। इन दोनों चरणों के बाद के स्तर केवल क्वालीफाइंग प्रकृति के होते हैं।

अधिसूचना का सावधानीपूर्वक मूल्यांकन

उम्मीदवारों को SSC के नवीनतम पाठ्यक्रम परीक्षा पैटर्न और अन्य चयन मापदंडों के बारे में अधिक जानने के लिए आवेदन पत्र के साथ उपलब्ध आधिकारिक अधिसूचना से रूबरू होना चाहिए। तब उन्हें तैयारी शुरू करने के लिए टियर वन और टियर-2 दोनों के लिए पाठ्यक्रमों को देखना चाहिए। पाठ्यक्रम के अलावा इसमें कुछ अनिवार्य दिशा निर्देश भी सम्मिलित होते हैं। जिनके साथ आपको सतर्कता अपनानी चाहिए। यदि आप इन नियमों और दिशा निर्देशों जिससे विशेष रुप से परीक्षा में भाग लेने से पहले के आयु मापदंड की रियाती और गैर रियायती मानदंड , डाटा टाइपिंग की गति , प्रदत्त पद और उनके संबंधित वेतनमान सम्मिलित हैं। उनका पालन नहीं करते हैं तो आप की पात्रता को स्थगित भी किया जा सकता है।

पुस्तकों का चयन

जैसा कि कहा जाता है किताब में किसी के लिए सबसे अच्छी दोस्त होती हैं। इसलिए अपनी तैयारी में श्रेष्ठता के लिए सर्वोत्तम पुस्तकों को ही चुने। इसकी पूरी तरह से सिफारिश की जाती है। कि बाजार में उपलब्धता के मुताबिक सभी विषयों के लिए अलग-अलग मानक पुस्तकों को या सभी विषयों की संयुक्त पुस्तकों को भी अध्ययन के लिए चुना जा सकता है। मानक पुस्तकों की सबसे महत्वपूर्ण गुण बताया है कि वह टॉपिक्स और अवधारणाओं का विवेचन सबसे आसान प्रश्नों से लेकर कठिन प्रश्नों के माध्यम से करते हैं।

पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रो की भूमिका

SSC सीएचएसएल परीक्षा के किसी भी चरण में आने से पहले प्रयास करने के लिए पिछले साल के प्रश्न पत्र बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। यदि आप पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र का अभ्यास नहीं करते तो आप निम्नलिखित चीजों से वंचित हो सकते हैं।
1. SSC पाठ्यक्रम के प्रत्येक सूचीबद्ध विषय से सीएचएसएल परीक्षा में कितने सवालों को पूछा जाता है।

2. आगामी परीक्षा में इन सवालों का कठिनाई स्तर क्या होगा इससे आप किसी विशेष अनुभाग के उस टॉपिक पर बहुत कम समय आवंटित कर सकते हैं।

3. सबसे ज्यादा दोहराए जाने वाले प्रश्नों से अनजान भी रह सकते हैं क्योंकि कभी-कभी SSC अपनी आगामी परीक्षा में पिछले साल के प्रश्नों का इस्तेमाल भी करता है।

4. आप अपने मजबूत और कमजोर क्षेत्रों की जानकारी से वंचित हो सकते हैं।

5. आप कम अंकों वाले विषय तैयार करने में अपना समय बर्बाद कर सकते हैं और अधिक महत्वपूर्ण विषयों को तैयारी के दौरान छोड़ सकते हैं।


ऑनलाइन टेस्ट 

अधिक सुधार के लिए अपने ज्ञान स्तर का टेस्ट करना हमेशा अधिक उपयुक्त होता है। मोक्के टेस्ट या ऑनलाइन टेस्ट श्रृंखला के लिए नियमित रूप से समय आवंटित करें। आप बाजार या ऑनलाइन मीडिया में उपलब्ध किसी भी मोक्के टेस्ट को खरीद सकते हैं। ऑनलाइन टेस्ट श्रृंखला का अभ्यास करना आप को कमजोर क्षेत्रों में अपनी तैयारी और सुधार का एक विचार दे सकता है। अधिकतर सुंदर और सार्थक तरीके से तैयार तैयारी करने के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है। यह आपके आत्मविश्वास को बढ़ाता है और आप की अवधारणाओं और मौजूदा ज्ञान को भी निखारता है।

गलत उत्तर देने से बचें

गलत उत्तर देने से बचें लिखित परीक्षा देने के दौरान पहला और सबसे महत्वपूर्ण नियम यह है। कि आपको उन प्रश्नों के गलत जवाब देने से बचना चाहिए। जिनके बारे में आप निश्चित नहीं है। हम गलत उत्तर देने पर आपके अंतिम प्राप्त अंकों में से गलत जवाबो की संख्या के आधे अंको की कटौती की जाएगी। इसके फलस्वरुप आपके लिए 1 राउंड में सफल होने की संभावना कम हो सकती है। और आप परीक्षा के दूसरे चरण तक नहीं पहुंच पाएंगे। इसीलिए केवल उन सवालों का जवाब देना उचित समझें जिनके बारे में आप अधिक आश्वस्त हो। इसके अलावा सफलता सुनिश्चित करने के लिए अनुमान लगाने के खेल से बचें। किसी विशेष प्रतिस्पर्धा परीक्षा के लिए सफलता की सबसे बड़ी कुंजी आत्मविश्वास होता है। यह किसी भी स्तर पर चयन की संभावना को कम या ज्यादा कर सकता है। यदि आप में पर्याप्त आत्मविश्वास नहीं है। तो आप परीक्षा में लंबे समय तक किसी एक ही प्रश्न के साथ प्रयास से खत्म हो सकते हैं। और आख़िर में आप गलत जवाब को भी चुन सकते हैं। अंत सदैव खुश रहें और आत्मविश्वास से भरे हुए रहे।

चयन प्रक्रिया 

चयन प्रक्रिया में तीन स्तर होंगे ।

1. टियर -1 :- लिखित परीक्षा - उद्देश्य प्रकार - 100 प्रश्न - 200 अंंक

2. टियर -2 :- लिखित परीक्षा - वणनात्क प्रकार - 100 अंंक ऑफलाइन मोड

3. टियर -3 :- कौशल परीक्षण - टाईपिंग टेस्ट -


अब आप परीक्षा पैटर्न और ऑनलाइन परीक्षा में किए गए परिवर्तनों से अवगत हैं। परीक्षा के लिए जल्दी से जल्दी तैयारी शुरू करना बहुत महत्वपूर्ण है। इसलिए व्यवस्थित तैयारी करने के लिए जाने से पहले आपको SSC परीक्षा के लिए ऑनलाइन निकली परीक्षण के माध्यम से जाने की सलाह दी जाती है। इससे आप अपने मजबूत और कमजोर क्षेत्रों का अनुुुमान लगाने मे आसानी होगी। एक बार जब आप अपनी ताकत और कमजोरियों को समझ जाए , तो एक अध्ययन योजना बनाएं और अवलोकन के अनुसार विषयों को समय समर्पित करें SSC सीएचएसएल टीयर वन परीक्षा के लिए दैनिक तैयारी में न्यूनतम 10 घंटे का होना अत्यंत आवश्यक है।

समाचारपत्र पढे़ 


यह बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि आपको वर्तमान मामलों की जानकारी समाचारो पत्र से मिलेगी। समाचारपत्र से आप हर Current Affairs से अवगत रहेगे। इससें आप अपने समान्य ज्ञान को भी भी बढ़ा सकते हैं। जो आप के SSC Exams के लिए बहुत मदद करेगा। इसलिए हर छात्र को जो SSC Exams की तैयारी कर रहा है , उसे समाचारपत्र पढ़ना बहुत जरूरी है।

अभ्यास 

आपको अपने SSC Exams को हल करने का अभ्यास लगातार करते रहना चाहिए। आपको तैयार विवरणों को पढ़ना और रिवाइज करना होगा। और इसके साथ ही आपको विभिन्न तरीकों से प्रश्नो का अभ्यास भी करना चाहिए। ताकि आप परीक्षा लेने और अच्छी तरह से स्कोर करने के लिए आव्श्रस्त हो। यह अत्मविश्वास आप की तैयारी और अभ्यास के कारण होगा।

अनुमान

सामन्य ज्ञान मे आपको कई बार अनुमान भी लगाना पड़ सकता है। क्योंकि आप प्रत्येक विषय और सब कुछ कभी नहीं जान सकते हैं। यदि आप परीक्षा में कुछ भी छोड़ देते हैं तो आप को अंक नहीं मिलेगा और आप दौड़ में पीछे छूट जायेगे। इसलिए आपको यह चांस लेना पड़ सकता है। लेकिन इसे एक बार गणना करना चाहिए। आप दो जवाबों के बीच कनफ्यूज हो सकते हैं। आप को अपने ज्ञान के आधार पर एक का चयन करना होगा। लेकिन ऐसे प्रश्नों के लिए ना जाये जिनके बारे मे आपको बिल्कुल भी पता ना हो।

रोज पढे़ 
सामान्य ज्ञान के लिए ये बहुत जरूरी है कि आप कि आप रोज पढे़। क्योंकि यह मुख्य रुप से स्मृति आधारित अनुभाग हैं , विशेष रुप से परीक्षा से पहले इस खंड के लिए दैनिक पढे़ ताकि आप ने जो सारी जानकारियां हासिल की हैं वह आप की मैमोरी मे स्टोर हो सके। ताकि जब आप परीक्षा कक्ष मे प्रवेश करे तो आप इनका फायदा उठा सकें।

गाइड बुक 

ऐसी प्रतियोगी परीक्षा में सफलता पाने के लिए एक पूर्ण अध्ययन सामग्री की आवश्यकता होती है। उस का चयन करें। जिसमें समस्त विषयों की उचित व्याख्या और अवधारणाओं के साथ का उदाहरण और प्रश्न को शामिल किया गया हो। इस प्रकार यदि आप ऐसी SSC परीक्षा को Crack करने के लिए समर्पित है। तो आपको तैयारी के लिए सर्वोत्तम अध्ययन सामग्री खरीदनी होगी। क्योंकि उपयुक्त अध्ययन सामग्री आपके समय और सीखने के प्रयासों को कम करता है।

अध्ययन रणनीति 

चूंकि क्योंकि इस परीक्षा का प्रतियोगिता तरह हर साल बढ़ता जा रहा है। इसलिए आप को सम्मिलित रुप से अध्ययन करने के लिए रणनीतियों को बनाना होगा। आपको वह सभी कारक पता होनी चाहिए जो सहायक हो सकते हैं। और आप के अध्ययन को प्रभावित कर सकते हैं इस संदर्भ में हम कुछ रणनीतियो को तैयार कर सकते है।

अपने ज्ञान को चेक करे तैयारी इस प्रक्रिया में मात्र एक चरण है। और परीक्षण दूसरा चरण है। तैयारी सबसे आसान और ज्यादा समय लेने वाला चरण है। यह परीक्षा में आप ही सफलता की गारंटी नहीं देता है। किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में आप को निर्धारित समय में प्रश्नों को हल करना होगा। इसीलिए अपनी गति बढ़ाने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप पिछले वर्ष के पेपर का मॉडल प्रश्न पत्रों के साथ खुद का परीक्षण करें। मोक्के पेपर्स /  मॉडल पत्र आसानी से ऑनलाइन और ऑफलाइन बाजार में उपलब्ध होते हैं।


परीक्षा मे समय प्रबंधन 

तैयारी के अलावा , परीक्षा कक्ष मे अच्छी तरह प्रदर्शन करना भी जरुरी है। यह देखा जाता है कि ज्यादातर कठिन परिश्रमी उम्मीदवार अंतिम परीक्षा में गलत समय प्रबंधन और गलत है रणनीति के कारण सफल नहीं हो पाते हैं। यहां हम आपको उन व्यक्तियों को बताना चाहते हैं जो परीक्षा के दौरान पालन किए जाने चाहिए।

1. पहले G.K Section को हल करना चाहिए।
2. किसी भी अनुभाग के अपरिचित प्रश्रों को छोड़े।
3. आखिरी मे तर्क और गणित अनुभाग का हल करने का प्रयास करें।
4. समीक्षा के लिए परिचित प्रश्नो को तय करे।
5. अनुमानित उत्तरो को चिन्हित न करे।


आशा है कि उपरोक्त बताईं गयीं युक्तियों को फोलो करके आप बिना किसी कोचिंग , टयूशन के SSC Exams और CHSL Exams को Crack कर सकते हैं।

Best Of Luck


ये भी पढे़ :- 

Railway Gruop D Recruitment and Vaccency Letest Update

Competitive Exams Ki Taiyaari Ghar Baithe Kaise Kre Bina Coaching Centre Gye

Ek Accha Laptop Kaise Karide Hindi Me Pade

Exams Me Success Hone Ka Mantra