C.N.C Machine ka Program Banana Shikhe


C.N.C-Machine-Ki-Basic-Jankaari




 नमस्कार दोस्तों आज मैं अपने इस Article में आपको सी एन सी मशीन के बारे में बताऊंगा इस आर्टिकल में मैं आपको इस की बेसिक जानकारियों और Cnc Machine का Programme बनाने के बारे में बताऊंगा। इस आर्टिकल में आप यह जानेंगे कि cnc मशीन क्या है और यह कैसे काम करती है और इसका Programme कैसे बनाया जाता हैं। अगर आप ने मेरी पिछली पोस्ट नही पढ़ी तो यहा क्लिक करके पढ़ ले।

CNC MACHINE KA PROGRAMME KAISE BNATE HAI. BASIC JAANKARI HINDI ME

Ek Accha Laptop Kaise Karide Hindi Me Pade

ATM Se Paise Nikalte Waqt In Baato Ka Rakhe Khayal

सी एन सी के बारे में


CNC मशीन काम पूरा नाम Computer Numerical Controller है। cnc मशीन को कंप्यूटराइज्ड न्यूमेरिकल के द्वारा कंट्रोल किया जाता है। इस मशीन को ऑपरेट करना बहुत ही सुरक्षित होता है यही कारण है कि आजकल इस मशीन की डिमांड बहुत ज्यादा है। दूसरा कारण यह है कि और दूसरी मशीनों की तुलना में इस मशीन की प्रोडक्शन बहुत ही हाई होती है यही कारण है कि आजकल हमारे इंडस्ट्रीज मैं खासकर प्रोडक्शन में सीएनसी मशीन का उपयोग लगातार बढ़ता ही जा रहा है
ऐसा भी माना जाता है कि सी एन सी मशीन का आविष्कार खराद की मशीनों को देखकर किया गया है खराद की मशीनों को ऑपरेटर मैनुअली ऑपरेट करता था जबकि C.N.C (T.C) इसका अपडेटेड वर्जन है इस मशीन के सभी Axis Automatically काम करते हैं आजकल मार्केट में सीएनसी मशीन की बहुत सी किसमें उपलब्ध हैं जिसमें किसी में 2 एक्सेस किसी में 3 एक्सेस किसी में 4 एक्सेस और किसी में 5 एक्सेस होते हैं।  कोई होरिजेंटल काम करता है कोई वर्टिकल काम करता है।  मशीन के कंट्रोल सिस्टम भी अलग-अलग होते हैं। अभी तक इस लाइन में ज्यादातर 4 कंट्रोल सिस्टम ही ज्यादा यूज किए जाते हैं यह कंट्रोल सिस्टम है Simains , Fanuc ,Haash  , Mazak , Mithusubasi. यहां मैं आपको सीएनसी मशीन की कुछ किस्मों के बारे में भी बता दू।

CNC Machine Ka Program Banana Shike Hindi Me

Affiliate Marketing Program Se Paisa Kaise Kamaye

Chori Hue Phone Ki Location Kaise Trace Kre

सी एन सी की किस्में


  • T.C          =    Turning Centre
  • V.M.C     =   Vertical Machining Center 
  • H.M.C.   = Horizontal Machining Center
  • V.T.L.      =  Vartical Machining Laeth
  • T.M         =  Turno Mill 



 यह मैंने आपको मशीन की कुछ किस्मों के बारे में बताया है जिनका प्रोडक्शन लाइन में बहुत ज्यादा उपयोग आजकल हो रहा है। हर मशीन के अपने अलग अलग फीचर्स और उन्हें कंट्रोल करने का अलग-अलग तरीका होता है किसी मशीन में पिक्चर Move करते हैं किसी मशीन में Tool Move करता है किसी मशीन में पिक्चर और टूल दोनों मूव करते हैं। सभी मशीनों की अपनी अलग अलग खासियत है मशीनों में बनाए जाने वाले कंपोनेंट के हिसाब से इन मशीनों का उपयोग किया जाता है। कई मशीनों में वर्कपीस को Clamp करने का तरीका भी अलग अलग होता है।  किसी मशीन में Clamping एयर प्रेशर से होती है किसी में हाइड्रोलिक प्रेशर से Clamp किया जाता है। और किसी में नट बोल्ट से Manually Clamp किया जाता है।
C.N.C (T.C) मशीन की तुलना में V.M.C , H.M.C और  V.T.L ज्यादा भारी पीस चला सकते हैं। क्यों कि CNC (T.C) में ज्यादातर jaw ही लगाएं जाते है और बाकी की मशीनों में फिकचर पर काम किया जाता है। Workpiece के अनुसार

CNC Machine Ke M Codes ki Puri Jaankari Hindi Me


C.N.C Machine Axis



 मशीन में X ,Z Axis होते हैं। ये Axis + और - में होते हैं।( X-), (X+), (Z-), (Z+) । (Z+) पीछे की तरफ होता है। (Z-) आगे की तरफ होता है। (X+) उपर की तरफ होता है। (X-) नीचे की ओर होता है। X में Workpiece का डाया (Dia) Control किया जाता है और Z में पीस का Total या Thikness (मोटाई) Control किया जाता है।

C.N.C Machine Offset


इस मशीन में तीन Offset होते हैं। Geometry , Workshift , Wear Wear में एक बार में .1mm या .5mm तक की Offset डाल सकते हैं।
कई मशीनों में ये Limit अलग अलग होती है। Gemotery में कोई Limit नही होती है। इस में आप चाहें जितना Offset डाल सकते हैं। Workshift में Off-set डालने से सारे टूल आगे पीछे हो जाते हैं जितना आप इसमें प्लस माइनस करेंगे वह सारे टूल उतने ही एक साथ प्लस माइनस हो जाएंगे। इस में हर टूल में अलग अलग Offset नहीं डालना पड़ता है।

CNC Machine Ke M Codes ki Puri Jaankari Hindi me

C.N.C Machine Me Use kiye Jane Wale Oil



C.N.C Machine में आमतौर पर तीन प्रकार के Oli इस्तेमाल किया जाता है। ये Oil है Hydrolic Oli , Lubricant Oil , Cutting Oil
Hydrolic Oli jaw के Clamping के लिए इस्तेमाल किया जाता है।  Lubrication Oli Slide को घिसने से बाचाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि जब मशीन चलती है तो इस की Slides Movement करते है।ये Oil उन Slids पर गिर कर उनके बीच चिकनाई पैदा करता है जिससे Slids घिसते नहीं है। एक खास अनुपात में Cutting Oli और पानी को मिला कर इसे Machine के Coolent Tank में डाला जाता है। जब टूल पीस को काटता है तो ये Coolent Tool पर गिरता है जिससे  Tool गरम नहीं होता है और टूल की Life बढ़ जाती है।

  CNC Machine Ke Keypads Ki Basic Jaankari Hindi Me


 अभी तक हमने CNC Machine ये जाना कि सीएनसी मशीन क्या होती है और कैसे काम करती है। आगे अब हम ये जानेगे कि सीएनसी मशीन का प्रोग्राम कैसे बनाया जाता है। तो चलिये शुरु करते है।

सबसे पहले जब भी हम प्रोग्राम बनाना शुरु करते है तो सबसे पहले हमे प्रोग्राम का नंबर डालना होता है। इस प्रोग्राम नंबर को हम O से Defined करते है। प्रोग्राम का नंबर हमेशा 4 Digits का होता है। और हम एक नंम्बर से सिर्फ एक ही प्रोग्राम बना सकते हैं। प्रोग्राम नंबर डालने के बाद हम End Of Block लगायेंगे। सीएनसी प्रोग्राम बनाते समय हर लाइन के End मे End of Block ( ; )  का इस्तेमाल किया जाता है। End of Block का मतलब होता है कि यहा लाइन खत्म हो रही है। जैसे हम हिन्दी या इंग्लिश मे कुछ लिखतेे है तो लाइन के आखिर में Full Stop (.) या ( , ) कोमा लगाते हैं। वैसे ही सीएनसी मे End of Block लगाया जाता है।
तो उदाहरण के लिए मान लेते है आप के प्रोग्राम का नंबर कुछ इस तरह से होगा।

O1234;

चलिये अब आगे बढ़ते हैं।  प्रोग्राम नंबर डालने के बाद आता है। N1 का मतलब होता है। Sequence number आप के PROGRAMME मे जितने भी टूल चल रहे होगे। हर टूल मे N1 , N2 , N3 का यूज किया जाता है। ये हमारे टूूू्ल की पहचान के लिए होता है। जो टूूूल हमे Provrramm मे सबसे पहले चलाना है। उसके लाइन के शुरू मे N1 डालना है। जो दूसरे नंबर पर टूल चलेगा वहां N2 डालना है।
तो हमारा अब तक का प्रोग्राम कुछ इस तरह से बनेगा।

O1234; (CNC Machine Programming)
N1 ;

अब हमे प्रोग्राम की अगली लाइन बनानी है। अब मशीन को हम Home Position पर ले के जाते है। मशीन को होम पोजीशन पर ले जाने के लिए हम ये कोडस यूज करेंगे  G28 U0.00 W 0.00 ; यहां इस कोड मे U X के लिए यूूूज होता है और W Z के लिए। इस कोड को लगाने से मशीन के दोनों Asixs अपने होम पोजिशन पर आ जायेेंगे। तो अब तक का आप का Progrmme ऐसे बनेगा।

O123;
N1;
G28 U.00 W.00 ;

अब अगली लाइन में हम टूल को Call करेंगे। हमे जिस टूल को चलाना हैं। उसे Call करेंगे। उसके लिए हम T0101;  ऐसे लिखेंगे। T Tool के लिए और 01 टूल नंबर के लिए और दूसरा 01 Offset नंबर के लिए। तो हमारा अब तक का प्रोग्राम ऐसे बनेगा।
O1234;
N1;
G28 U.00 W.00;
T0101;

अब हम Chuck को Rotate करेंगे। Spindle को Rotate करने का कोड G97 है। अब हम ये फिक्स करेंगे कि हमे Spindle को कितने RPM पर Rotate करना है। उदाहरण के लिए मान लेते है। 100 RPM पर Spindle को घुमाना है। तो S100 लिखेंगे। S का मतलब Spindle होता है। अब आप को M04 या M03 ये कोड लगाना है। ये कोड Spindle को Anticlockwise (M03) या Clockwise(M04) घूमाने के लिए लगाया जाता हैं। तो हमारा अब तक का प्रोग्राम कुछ ऐसे बनेगा।

O1234;
N1;
G28 U.00 W.00;
T0101;
G97 S100 M04;

अब हम Positioning (Rapid Travel) Code का इस्तेमाल करेंगे।
G00 ये Positioning (Rapid Travel) Code है।

ये कोड हम इस लिए लगाते हैं क्योंकि हमारी मशीन होम पोजीशन पर खड़ी है तो उसे हम Rapid मे आगे ले कर आयेंगे। इसके लिए G00 Code लगाया जाता हैं। हम मशीन के Reference Point के अनुसार Value Add करेंगे। उदाहरण के लिए X350.00 और Z20.00 M08 Coollent चलाने के लिए यूज किया जाता हैं।
  तो अब तक का Programme
O1234;
N1;
G28 U.00 W.00;
T0101;
G97 S100 M04;
G00 X350.00 Z20.00 M08;

अब हम Linear Code का इस्तेमाल करना है।
Example
G01 X40.00 Z5.00 F.2;
G01 Linear Code है। ये कोड workpiece की कटिंग के लिए होता है। X और Z का की वल्यू हम अपने Drawing के हिसाब से लेगे। F Feed Rate के लिए यूज किया जाता हैं। तो अब

O1234;
N1;
T0101;
G28 U0.00 W0.00;
G97 S100 M04;
G00 X350.00 Z20.00 M08;
G01 X40.00 Z5.00 F.2;

ये मैने सिर्फ आप को प्रोग्राम बनाने की बेसिक बताई है। बाकी का प्रोग्राम Drawing के हिसाब से बनता हैं। अब हम मान लेते हमारा Workpiece बन गया है। अब हम पीस बनने के बाद मशीन को होम पोजिशन पर खड़ा कर देगे।
इसके लिए हम फिर से Reference का कोड लगायेंगे।
तो इस तरह प्रोग्राम बनेगा

O1234;
N1;
G28 U.00 W.00
G97 S100 M04;
G00 X350.00 Z20.00 M08;
G01 X40.00 Z5.00 F.2
G28 U.00 W.00;
M05;
M02;
M30%

M05 Spindle Stop  के लिए लगाया जाता हैं।
M02 Programme Stop के लिए लगाया जाता हैं।
M30 Workpiece की Counting के लिए लगाया जाता हैं।

तो इस तरह से आप एक सिंपल Cnc Programme बना सकते है। अगर आप को Progrmme बनाने में कोइ दिक्कत होती हैं या आप हमसे कुछ पूछना चाहते है तो नीचे कमेंट्स करके पूछ सकते है। CNC Machine Programming के बारे मे और जानने के लिए हमारी वेबसाईट पर Visit करते रहे।

Quality Assurance Aur Quality Control Me Kya Difference Hai.

CNC Machine Me Offset Kaise Lete hai.

Online Paisa Kamane Ke Top 10 Tarike

Interview Me Success Hone Ka Mantra

Blog Bna Kr Blog Se Paisa Kaise Kamaye

Phone Se Delete Hue Photos Ko Recover Kaise kre

International Number Se WhatsApp Kaise Chlaye

Ram Gupta
Ram Gupta

This is a short biography of the post author. Maecenas nec odio et ante tincidunt tempus donec vitae sapien ut libero venenatis faucibus nullam quis ante maecenas nec odio et ante tincidunt tempus donec.

2 comments:

  1. Replies
    1. CNC me plus minus Offset me krte hai. Simens aur Fanuc Control me thorda Differences hai

      Delete